NHAI: रोड बनाने के मामले में भारत ने छोड़ा अमेरिका, चीन और जापान को पीछे, 100 घंटे में 100 किमी सड़क तैयार कर बनाया रिकॉर्ड

Join and Get Faster Updates

Spreadtalks Webteam: नई दिल्ली:  NHAI, इस सड़क के निर्माण का कार्य 15 मई को गाजियाबाद-अलीगढ़ एक्सप्रेस वे के बीच एनएच 34 पर सुबह 10 बजे शुरू हुआ था, जिसे 19 मई को 112 किमी बनाकर 100 घंटे में 2 बजे पूरा किया गया है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी ट्वीट कर टीम को बधाई दी है.

NHAI: रोड बनाने के मामले में भारत ने छोड़ा अमेरिका, चीन और जापान को पीछे, 100 घंटे में 100 किमी सड़क तैयार कर बनाया रिकॉर्ड

दुनिया को पीछे छोड़ते हुए भारत ने आज एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाया है। भारत में 100 किलोमीटर की सड़क 100 घंटे में तैयार की गई है। सड़क निर्माण में भारत ने चीन, अमेरिका और जापान को भी पीछे छोड़ दिया है। इस सड़क के निर्माण का कार्य 15 मई को गाजियाबाद-अलीगढ़ एक्सप्रेस वे के बीच एनएच 34 पर सुबह 10 बजे शुरू हुआ था, जिसे 19 मई को 112 किमी बनाकर 100 घंटे में 2 बजे पूरा किया गया है. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी ट्वीट कर टीम को बधाई दी है.

8 घंटे की शिफ्ट, एक शिफ्ट में 100 से ज्यादा इंजीनियर

इस सड़क का निर्माण 15 मई की सुबह 10 बजे से शुरू किया गया था। 100 घंटे में 100 किमी सड़क तैयार करने का लक्ष्य था। सड़क बनाने के लिए मजदूरों और इंजीनियरों ने 8-8 घंटे की शिफ्ट में काम किया. इंजीनियरों की टीम को लीड करने वाले अर्पण घोष कहते हैं कि एक शिफ्ट में कम से कम 100 इंजीनियर और 250 मजदूर काम करते थे. हर मिनट 3 मीटर से ज्यादा सड़क तैयार की गई। बड़ी बात यह है कि इस भीषण गर्मी में मजदूरों और इंजीनियरों के लिए कई अतिरिक्त इंतजाम करने पड़े. एंबुलेंस की भी व्यवस्था की गई थी। सबसे बड़ी चुनौती यह भी थी कि सड़क के दूसरी तरफ ट्रैफिक लगातार चल रहा था।

See also  Urfi Javed: उर्फी जावेद ने Kiwi से बनाई बिकिनी, एक्ट्रेस का ये फैशन हैरान कर देने वाला

पर्यावरण के अनुकूल प्रौद्योगिकी का उपयोग

एनएचएआई के क्षेत्रीय अधिकारी संजीव कुमार शर्मा का कहना है कि इस सड़क को बनाते समय पर्यावरण का भी पूरा ख्याल रखा गया है. सड़क को पुनर्नवीनीकरण सामग्री से बनाया गया है। सड़क को बनाने में पुराने मैटेरियल का ही इस्तेमाल किया गया है। सड़क बनाने में 51849 मीट्रिक टन डामर कंक्रीट और 2700 मीट्रिक टन डामर का उपयोग किया गया है। इस सामग्री को 6 हॉट मिक्स प्लांट में तैयार किया गया है। इस सड़क के बनने से भारत को एक मॉडल भी मिला है। इस मॉडल के जरिए आने वाले समय में हाईवे और एक्सप्रेसवे और तेजी से तैयार होंगे।

नमस्कार, मेरा नाम कमलेश देवी है और मैं spreadtalks.com पर खबर लेखन करने वाली एक लेखक हूँ। मैं Haryana की ब्रेकिंग न्यूज़ अपडेट लिखती हूँ ताकि आप लोग समय पर और सही जानकारी प्राप्त कर सकें। मेरा लक्ष्य हमेशा से यह होता है कि मैं अपने काम को एक उच्च स्तर पर प्रदर्शित करूँ जिससे आप लोगों तक अच्छी तरह से समाचार पहुंच सकें। मैं उम्मीद करती हूँ कि मैं SpreadTalks के माध्यम से आप सभी को समाचारों की सटीक और तेज अपडेट प्रदान कर पाउँगी।

Leave a Comment